आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है | Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai

आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है | Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai अगर आज के समय के बारे में बात किया जाए तो 10वीं पास करने के बाद विद्यार्थियों के मन में सवाल चलता है कि वह एक अच्छी जगह और एक अच्छे स्थान पर एक अच्छे जॉब करें।

तो ऐसे में काफी सारे विद्यार्थी टीचर की ऑप्शन चुनते हैं तो कोई विद्यार्थी मेडिकल में जॉब करना चाहते हैं तो कोई विद्यार्थियों के मन में इंडियन आर्मी बनने का सपना होता है तो आज मैं इस आर्टिकल में इंडियन आर्मी के बारे में विस्तारपूर्वक से बताने वाला हूँ।

आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है | Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai

इंडियन आर्मी बनने से पहले आपको यह जानना बहुत ही जरूरी है कि आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है? Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai?, इंडियन आर्मी की योग्यता कितनी होनी चाहिए?, इंडियन आर्मी की सैलरी कितनी होती है आदि जैसे काफी सारे सवालों का जवाब इस आर्टिकल मैं विस्तारपूर्वक से बताया गया है।

इंडियन आर्मी से संबंधित जानकारी पाने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें ताकि आपको इससे संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी मिल सके।

आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है (Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai)

इंडियन आर्मी इंडिया का सशस्त्र बल का सबसे बड़ा अंश माना जाता है जिसमें इंडियन आर्मी की नौकरी 20 साल की होती है जिसके पश्चात इंडियन आर्मी को त्याग प्रमाण पत्र (Living Certificate) मिल जाती है।

इंडियन आर्मी  की नौकरी अलग-अलग पोस्ट में अलग-अलग समय अवधि निर्धारित की गई होती है जो कि इस प्रकार है:–

  • कर्नल कि नौकरी 54 वर्ष की होती है।
  • एयरफोर्स में नौकरी 14 साल की होती है।
  • बिग्रेडियर कि नौकरी 56 वर्ष की होती है।
  • मेजर जनरल कि नौकरी 58 वर्ष की होती है।
  • लेफ्टिनेंट जनरल कि नौकरी 60 वर्ष की होती है।
  • ग्राउंड ड्यूटी ऑफिसर की शुरुआती तौर पर कार्यकाल 10 वर्ष का होता है।
  • अग्निपथ योजना में जोइनिंग किए हुए हैं अग्नीविरों कि नौकरी 4 साल की होती है।

इंडियन आर्मी की नौकरी की अवधि पाठ्यक्रम विवरण

क्र.सं.पदों के नामकार्यकाल अवधि
1.कर्नल अधिकारी 54 वर्ष 
2.एयरफोर्स अधिकारी14 वर्ष 
3.बिग्रेडियर अधिकारी56 वर्ष 
4.मेजर जनरल अधिकारी58 वर्ष 
5.लेफ्टिनेंट जनरल अधिकारी60 वर्ष 
6.ग्राउंड ड्यूटी अधिकारी10 वर्ष 
7.अग्नीविरों अधिकारी4 वर्ष 

Note:- निर्धारित पदों के समय अवधि पूरा होने के पश्चात अधिकारियों को सेवानिवृति दे दिए जाते हैं।

ALSO READS:–

आर्मी कैसे बने (Army Officer Kaise Bane)

इंडियन आर्मी बनने के लिए कैंडिडेट के पास निम्नलिखित प्रक्रिया होते हैं जो कि इस प्रकार से है:–

  • इंडियन आर्मी बनने के लिए कैंडिडेट को सर्वप्रथम 12वीं कक्षा में अच्छे अंकों के साथ मान्यता प्राप्त करना होता है।
  • इंडियन आर्मी के लिए यूपीएससी के द्वारा निकाली गई वैकेंसी में आवेदन करना होता है।
  • यूपीएससी के द्वारा इंडियन आर्मी की वैकेंसी नोटिफिकेशन साल में दो बार जारी किया जाता है।
  • आवेदन की प्रक्रिया पूरा होने के पश्चात कैंडिडेट को लिखित परीक्षा के लिए बुलाया जाता है।
  • लिखित परीक्षा में मान्यता प्राप्त करने के बाद कैंडिडेट का फिजिकल टेस्ट लिया जाता है जिसमें हर एक गुप्त अंग का टेस्ट किया जाता है।
  • चयनित अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग के लिए नेशनल डिफेन्स एकेडेमी भेजा जाता है।
  • मेडिकल में मान्यता प्राप्त करने के पश्चात कैंडिडेट को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।
  • अंत में कैंडिडेट के डाक्यूमेंट्स सटीक एवं पूर्ण रूप से सही होना चाहिए तभी जाकर के आर्मी ऑफिसर के लिए पात्र होंगे।
  • जब कैंडिडेट आर्मी की हर एक टेस्ट को पास कर जाता है तो वह आर्मी ऑफिसर की पोस्ट पर नियुक्त हो जाते हैं

इंडियन आर्मी जाने के लिए योग्यता। (Indian Army Eligibility Qualification)

इंडियन आर्मी में जाने के लिए निम्नलिखित क्राइटेरिया होते हैं जोकि नीचे इस प्रकार से दर्शाए गए हैं:–

  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए युवा कैंडिडेट को 10वीं कक्षा या 12वीं कक्षा किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड एग्जाम से पास होना चाहिए।
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए युवा कैंडिडेट कि हाइट 152 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए कैंडिडेट अविवाहित होनी चाहिए।
  • पुरुष कैंडिडेट का वजन न्यूनतम 50 के.जी. होनी चाहिए।
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए युवा कैंडिडेट की छाती की चौड़ाई 77 सेंटीमीटर की होनी चाहिए। 
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए कैंडिडेट की आंखों की रोशनी 6-6 की होनी चाहिए।
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए कैंडिडेट भारतीय होने चाहिए।
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए कैंडिडेट की शारीरिक और मानसिक संतुलन फिट होने चाहिए।
  • इंडियन आर्मी में जाने के लिए महिला कैंडिडेट की वजन 48 के.जी. होनी चाहिए।

इंडियन आर्मी बनने के कौन-कौन से फायदे होते हैं (Indian Army Banne Ke Kon Kon Se Fayde Hote Hai)

इंडियन आर्मी बनने के काफी सारे फायदे होते हैं जिनमें से कुछ फायदे नीचे इस प्रकार से दर्शाए किए हैं:- 

  • इंडियन आर्मी ऑफिसर बनने के बाद लोग आपको सम्मान की दृष्टि से देखेंगे।
  • इंडियन आर्मी ऑफिसर बनने के बाद भी आप अपने उच्च शिक्षा के सपनों को साकार कर सकते हैं।
  • आर्मी ऑफिसर देश और देशवासियों की रक्षा करता है इसके बदले में फौजी और उसके परिवार को समाज में एक उच्च स्थान मिलता है यानी वह समाज में प्रतिष्ठित व्यक्ति के नाम से जाना जाता है, जो की अभी के समय में बहुत बड़ी बात है।
  • इस क्षेत्र में नौकरी करने के बाद आपको आर्थिक सुरक्षा भी दी जाती है। अगर आप रिटायर हो जाते हैं तो भी आपको अन्य नौकरी मिलने का विश्वास दिया जाता है।
  • इंडियन आर्मी को भारत के वीर सिपाही कहे  जाते हैं।
  • आर्मी ऑफिसर के बच्चों को केंद्रीय विद्यालय में खास तरजीह दी जाती है। फौजी और उनके परिवार के लोगों को मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं दी जाती है।
  • इसमें आप को सैलरी भी बहुत अच्छी खासी मिलती है, जिससे आप अपने परिवार की हर इच्छा पूरी कर पाएंगे।
  • इस नौकरी के तहत आपको ट्रेनिंग के दौरान अनुशासन और शिष्टाचार सिखाया जाता है जो कि आपके पूरे जीवन में आपको फायदा पहुंचाता है।
  • साथ ही इसमें सैलरी के साथ-साथ आपको बीच-बीच में बोनस भी मिलते रहता है जो कि आपके आर्थिक क्रियाकलाप को ओर बढ़ाने में मदद करता है।

इंडियन आर्मी के कार्य कौन-कौन से होते है ( Indian Army Ke Work Kon Kon Se Hote Hai)

इंडियन आर्मी की कहानियां काफी सारे होते हैं जो कि नीचे निम्नलिखित कितने प्रकार से है:-

  • इनका सबसे मुख्य कार्य अपने देश की रक्षा करना होता है।
  • इमारतों व सड़कों का निर्माण करने।
  • किसी देश या उसके नागरिकों या फिर किसी शासन व्यवस्था और उससे संबंधित लोगों के हितों व उनकी रक्षा करना उनका मुख्य कार्य है।
  • कहीं कहीं जगह में ऑफिसर को राजनीतिक विचारधाराओं को बढ़ावा देने।
  • इंडियन आर्मी ऑफिसर का काम देश व नागरिकों की रक्षा उनके शत्रुओं पर प्रहार करना और शत्रुओं के पहाड़ को खदेड़ देना होता है।
  • व्यापारिक हित और कंपनियों को लाभ कराने, जनसंख्या वृद्धि को रोकने।

आर्मी की सैलरी कितनी होती है (Indian Army Officer Ki Salary Kitni Hoti Hai)

इंडियन आर्मी की सैलरी महीने के 20,200 से लेकर के 1,50,000 रुपए तक की हो सकती है तथा अलग-अलग पोस्ट के लिए अलग-अलग सवेरे निर्धारित की गई है जो कि नीचे निम्नलिखित प्रकार से दर्शाए गए हैं:–

  • इंडियन सिपाही की मासिक वेतन लगभग 5,200 से लेकर के लगभग 20,200 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन लांस लायक की मासिक वेतन लगभग 5,200 से लेकर के लगभग 20,200 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन नायक अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 5,200 से लेकर के लगभग 20,200 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन हवलदार अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 5,200 से लेकर के लगभग 20,200 तक कि हो सकती है। 
  • नायब सूबेदार की मासिक वेतन लगभग 9,300 से लेकर के लगभग 34,800 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन लेफ्टिनेंट अधिकारी इंडियन सिपाही की मासिक वेतन लगभग की मासिक वेतन लगभग 15,600 से लेकर के लगभग 39,100 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन कैप्टन अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 15,600 से लेकर के लगभग 39,100 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन मेजर अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 15,600 से लेकर के लगभग 39,100 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन लेफ्टिनेंट कर्नल अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 37,400 से लेकर के लगभग 67,000 तक कि हो सकती है।
  • इंडियन कर्नल अधिकारी की मासिक वेतन लगभग 37,400 से लेकर के लगभग 67,000 तक कि हो सकती है।
  • आदि………

इंडियन आर्मी ग्रेड पे और सैलरी पाठ्यक्रम विवरण

क्र.सं.पदों के नामसैलरीग्रेड पे
1.इंडियन सिपाही5,200-20,2001,800
2.इंडियन लांस लायक5,200-20,2002,000
3.इंडियन नायक5,200-20,2002,400
4.इंडियन हवलदार5,200-20,2002,800
5.नायब सूबेदार9,300-34,8004,200
6.इंडियन लेफ्टिनेंट15,600-39,1005,400
7.इंडियन कैप्टन15,600-39,1006,100
8.इंडियन मेजर15,600-39,1006,600
9.इंडियन लेफ्टिनेंट कर्नल37,400-670008,000
10.इंडियन कर्नल37,400-67,0008,700
11.सुबेदार 9,300-34,8004,600
12.ब्रिगेडियर 37,400-67,0008,900

Note:- जैसे-जैसे कैंडिडेट की अनुभव बढ़ाता है ठीक उसी प्रकार से उम्मीदवार के सैलरी भी बढ़ती है इसके अलावा सारे भत्ते भी बढ़ते जाते हैं।

आर्मी की ट्रेनिंग कितने दिन कि होती है (Army Ki Training Kitne Din Ki Hoti Hai)

इंडियन आर्मी की ट्रेनिंग 6 महीना की होती है जब उम्मीदवार लिखित परीक्षा और बाकी सारे टेस्ट में पास हो जाते हैं तो इसके बाद उन्हें इंडियन आर्मी की ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है जहां भिन्न-भिन्न ट्रेनिंग सेंटरों से ट्रेनिंग लिए जाते हैं। 

इंडियन आर्मी के लिए ट्रेनिंग सेंटर ( Indian Army Ke Liye Training Centre)

इंडियन आर्मी के लिए निम्नलिखित ट्रेनिंग सेंटर है जो कि नीचे इस प्रकार से है:–

  • सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज, पुणे
  • महार रेजीमेंट सेंटर, सागर
  • सिख रेजीमेंट सेंटर, रामगढ़
  • गोरखा प्रशिक्षण केंद्र, सबथू
  • पंजाब रेजिमेंट सेंटर, रामगढ़
  • राजपुताना राइफल्स रेजिमेंट सेंटर दिल्ली, कैंट
  • मराठा लाइट इन्फैंट्री रेजिमेंट सेंटर, बेलगाम
  • गोरखा राइफल रेजिमेंट सेंटर, लखनऊ
  • राजपूत रेजीमेंट सेंटर, फतेहगढ़
  • विशेष बल प्रशिक्षण केंद्र, नाहन
  • डोगरा रेजिमेंट सेंटर, फैजाबाद
  • सैन्य खुफिया प्रशिक्षण स्कूल, पुणे
  • पैराशूट रेजिमेंट सेंटर, बैंगलोर
  • असम रेजिमेंट सेंटर, शिलांग
  • जाट रेजीमेंट सेंटर, बरेली
  • बिहार रेजिमेंट सेंटर, दानापुर
  • आदि……..

आर्मी की नौकरी में रिटायरमेंट कब होता है

इंडियन आर्मी की नौकरी से रिटायरमेंट नौकरी के कार्यकाल अवधि पूरा होने के बाद ही होता है भिन्न-भिन्न पोस्ट के अधिकारियों के लिए जॉब रिटायरमेंट अवधी अलग-अलग निर्धारित होती है। अधिकारी को उसके कार्यकाल समय पुरा ना होने तक कार्य को लगन और ईमानदारी के साथ कार्य करना होता है और अंततः कार्य अवधि समाप्त होने पर रिटायरमेंट पेंशन भी मिलते हैं। उम्मीदवार की आर्मी की नौकरी का रिटायरमेंट अवधि पूर्ण होने के बाद ही किया जाता है ना कि उससे पहले रिटायरमेंट किया जाता है।

FAQ’S

प्रश्न:- आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है? 

उत्तर:- इंडियन आर्मी की नौकरी 20 साल की, कर्नल कि नौकरी 54 वर्ष, एयरफोर्स में नौकरी 14 साल, बिग्रेडियर कि नौकरी 56 वर्ष, मेजर जनरल कि नौकरी 58 वर्ष, लेफ्टिनेंट जनरल कि नौकरी 60 वर्ष, ग्राउंड ड्यूटी ऑफिसर की शुरुआती तौर पर कार्यकाल 10 वर्ष तथा अग्निपथ योजना में जोइनिंग किए हुए हैं अग्नीविरों कि नौकरी 4 साल की होती है।

प्रश्न:- आर्मी में जाने के लिए हाइट कितने चाहिए?

उत्तर:- आर्मी में भर्ती के लिए महिला कैंडिडेट और पुरुष कैंडिडेट की हाइट अलग-अलग रखी गई है, आर्मी भर्ती में महिला कैंडिडेट की हाइट “142 सेंटीमीटर से लेकर 150 सेंटीमीटर” होनी चाहिए और आर्मी भर्ती के लिए पुरुष कैंडिडेट की हाइट “160 सेंटीमीटर से लेकर 169 सेंटीमीटर” होनी चाहिए।

प्रश्न:- आर्मी में वजन कितना होना चाहिए?

उत्तर:- इंडियन आर्मी में जाने के लिए महिला कैंडिडेट की वजन 48 के.जी. होनी चाहिए जबकि पुरुष कैंडिडेट का वजन न्यूनतम 50 के.जी. होनी चाहिए।

आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है | Army Ki Job Kitne Saal Ki Hoti Hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *