बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए | BSc Me Passing Marks Kitna hai

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, BSc Me Pass Hone Ke Liye Kitne Number Chahiye, BSc Me Passing Marks Kitna hai

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए (BSc Me Passing Marks Kitna hai) आज के समय में अगर देखा जाए तो जो विद्यार्थी पढ़ाई में इंटेलिजेंट होते हैं। और पढ़ाई के क्षेत्र में उन्हें बहुत ही रुचि होती है। 

वैसे विद्यार्थी 12 वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम को लेकर के पढ़ाई करना अधिक पसंद करते है। ऐसे में वह एक अच्छे नंबर से भी साइंस स्ट्रीम में मान्यता प्राप्त कर लेते हैं।

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए | BSc Me Passing Marks Kitna hai
बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए | BSc Me Passing Marks Kitna hai

एक इंटेलिजेंट विद्यार्थी 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम को लेकर पूरा करने के बाद। वह स्नातक की डिग्री भी साइंस स्ट्रीम को लेकर पढना अधिक पसंद करते हैं।

लेकिन फिर भी उसके मन में अक्सर ऐसा सवाल आता है कि B.Sc में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, बीएससी करने के लिए फायदे, बीएससी का फुल फॉर्म क्या होता हैं आदि काफी सारे सवाल चलते हैं।

तो चलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए इसके बारे में पूर्ण रूप से सरल भाषा में बताने वाले हैं। 

Table of Contents

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए (BSc Me Pass Hone Ke Liye Kitne Number Chahiye)

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? बीएससी एक 3 साल के कोर्स होते हैं। बीएससी में पास होने के लिए कुल 2450 निर्धारित होते हैं। 

जबकि आपको 40 परसेंट अंक यानी कि 980 नंबर लाना अनिवार्य होता है। बीएससी परीक्षा में पास होने के लिए।

जिसमें 6 सेमेस्टर होते हैं। और प्रत्येक साल 2- 2 सेमेस्टर करके एग्जाम होते हैं। और अंतिम साल की है जो परीक्षा होती है। 

उस परीक्षा के बाद कुल 6 सेमेस्टर के अंक को जोड़ा जाता है। और जोड़ने के बाद इनके अंक का प्रदर्शन किया जाता है। 

बीएससी का एग्जाम एक इंटरनल एग्जाम होता है। जिसमें कुल 6 सेमेस्टर होते हैं। और इन 6 सेमेस्टर में 20-20 नंबर निर्धारित होते हैं। 

ऐसे में बीएससी परीक्षा के बाद या परीक्षा के पूर्व एक प्रैक्टिकल परीक्षा देना होता हैं। और प्रैक्टिकल में अर्जित अंक कि भी योग होती हैं।  

बीएससी में पास होने के लिए नंबर और पर्सेंटेज का शेड्यूल इस प्रकार हैं। 

S.NSemester Total Marks Percentage Passing Marks 
1.1st semester35040%140
2.2nd semester35040%140
3.3rd semester45040%180
4.4th semester45040%180
5.5th semester45040%180
6.6th semester40040%160
Total 2450980

बीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है (BSc ka full form kya hota hai)

बीएससी(BSC) का फुल फॉर्म Bachelor of Science जिसका हिंदी में विज्ञान स्नातक भी कहा जाता जाता है। 

बीएससी क्या है (What is BSc in hindi)

बीएससी कोर्स एक अंडर ग्रैजुएट कोर्स होता है। इसे हासिल करने के लिए 3 साल के समय होते है। और 6 सेमेस्टर होते हैं। तथा कॉलेज या यूनिवर्सिटी में इसके परीक्षा साल में दो बार आयोजित किये जाते है। यह कोर्स भारत देश में सबसे ज्यादा प्रचलित है।

बीएससी कोर्स को वही विद्यार्थी कर सकते हैं। जो विद्यार्थी 12वीं कि पढ़ाई science स्ट्रीम को लेकर किये हैं। बीएससी डिग्री को हासिल करने के बाद आप एमएससी यानी मास्टर (MA) कि डिग्री में दाखिला ले सकते हैं। 

बीएससी डिग्री को हासिल करने के बाद यदि उम्मीदवार चाहे तो वह अपने पढ़ाई के साथ साथ कोई अंडर ग्रेजुएट जॉब प्राइवेट या सरकारी में कर सकते हैं। 

अगर यदि उम्मीदवार अपने पढ़ाई के साथ-साथ किसी प्राइवेट हॉस्पिटल या सरकारी हॉस्पिटल में जॉब करना चाहते हैं  तो वह जॉब कर सकते हैं। क्योंकि बीएससी कोर्स करने के बाद काफी जॉब्स ऑप्शन खुल जाते हैं।  और वह आसानी से अपने जॉब को किसी भी क्षेत्र में हासिल करके कर सकते हैं। 

बीएससी कोर्स में कुल कितने सब्जेक्ट होते हैं (BSc Course Me Kul Kitne Subject Hote Hai)

बीएससी कोर्स में सब्जेक्ट बीएससी कोर्स मे कई सब्जेक्ट होते हैं। जिनमें से किन्हीं 5 सब्जेक्ट को ले कर के अपने स्ट्रीम को पूरा करना होता है। जैसे कि

  • BSc physics
  • BSc industrial chemistry
  • BSc in Biology
  • BSC nursing।
  • BSc physics
  • BSc in botany
  • BSc Information Technology
  • BSc horticulture Science

जैसे कि हमने ऊपर आपको बताया है। कि बीएससी मे कुल 8 सब्जेक्ट होते हैं। जिनमें से किसी 5 को चुन करके आप अपने बीएससी की डिग्री को हासिल कर सकते हैं। 

लेकिन वहीं यदि आप बीएससी की डिग्री हासिल करना चाहते हैं।  तो आपके पास 2 ऑप्शन होते हैं। कि आप किस सब्जेक्ट को लेकर के बीएससी की डिग्री करना चाहते हैं। दो ऑप्शन इस प्रकार से

  • PCM
  • PCB

PCM क्या है?(What is PCM In Hindi)

पीसीएम का फुल फॉर्म Physics, Chemistry, Mathematics होता है। PCM बीएससी के अंडर आने वाला एक कोर्स है। जिसको विद्यार्थी बीएससी में चुनकर के Pcm Course को कर सकते हैं इस कोर्स में सब्जेक्ट इस प्रकार से है।

PCM Subject List in hindi 

  1. Mathematics
  2. Industrial chemistry
  3. Polymer science
  4. Nautical science
  5. Physical science
  6. Instrumentation
  7. Nautical science
  8. Information Technology
  9. Electronic
  10. Geology
  11. Computer ScienceBSC chemistry

पीसीएम (PCM) से क्या बन सकते है?

B.Sc.  PCM कोर्स को करने के बाद आपके पास निम्नलिखित विकल्प होते हैं। जिसे आप हासिल कर सकते हैं। जैसे:– 

  • इलेक्ट्रीकल 
  • माइनिंग इंजीनियरिंग
  • कंट्रोल इंजीनियरिंग
  • एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग
  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • इलेक्टॉनिक्स 
  • म्युनिकेशन इंजीनियरिंग
  • औधोगिक इंजीनियरिंग
  • इनफॉर्मेशन टेक्नॉलजी
  • इंस्ट्रूमेंटेशन  
  • कैमिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
  • मरीन इंजीनियरिंग
  • प्रिंट 
  • मीडिया टेक्नॉलजी
  • न्यूक्लीयर इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रीकल इंजीनियरिंग
  • डेयरी टेक्नॉलजी
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • आर्किटेक्चर
  • कंप्युटर एप्लीकेशन 
  • मर्चेंट नेवी
  • नेवल आर्किटेक्चर 
  • शिप बिल्डिंग

 PCB क्या है (What is PCB In Hindi)

इस कोर्स में केवल ही केवल मेडिकल क्षेत्र के बारे में ही विशेष रूप से बताया गया है। Pcb का फुल फॉर्म Physics Chemistry Biology होता है।

पीसीबी में कुल कितने सब्जेक्ट होते हैं (PCB Subject List in hindi)

पिसीबी सब्जेक्ट चुनकर के आप अपने पढ़ाई को पूरा कर सकते हैं। जो कि इस प्रकार से है 

  • BSc in Botany
  • BSc in Forensic Science
  • BSc Fisheries Science
  • BSc in Geology
  • BSc in Anthropology
  • BSc in Medical Lab Technology
  • BSc Environmental Science
  • BSc in Biotechnology
  • BSc in Biological science
  • BSc in Zoology
  • BSc Biomedical science
  • BSc Physical science
  • BSc in Genetics
  • BSc in Physiotherapy
  • BSc in Occupational Therapy
  • BSc in Biology
  • BSc in Food Technology
  • BSc in Optometry
  • BSc Horticulture
  • BSc in NursingBSc and AH- Veterinary Science
  • BSc in Home Science
  • BSc Agriculture and Dairy science
  • BSc in Immunology

B Sc के बाद क्या बन सकते हैं?

BSc PCB कोर्स को चुनने वाले विद्यार्थी डॉक्टरी के क्षेत्र में जॉब कर सकते हैं। जोकि इस से प्रकार है

  • बीएनवाईएस-नेचुरोपैथी
  • बीएचएमएस-होमियोपैथी
  • बीएसएमएस-सिद्ध मेडिसिन

एवं साइंस

  • एमबीबीएस
  • बीडीएस-दंत चिकित्सा
  • बीएएमएस-आयुर्वेद
  • वेटेनरी साइंस 
  • एनिमल हसबेंडरी
  • बीयूएमएस-यूनानी
  • यौगिक विज्ञान

आदि PCB कोर्स के बाद बन सकते हैं। 

BSc PCB के बाद ऑनर्स करने के लिए कोर्स 

BSc PCB करने वाले विद्यार्थियों के पास स्नातक के बाद ऑनर्स करने का भी सुनहरा मौका होता है। ऑनर्स की डिग्री को हासिल करने के लिए विद्यार्थियों के पास निम्नलिखित कोर्स होते हैं।  

  • बीएमएलटी (मेडिकल लैब टेक्नॉलजी)
  • बीएससी(रिहैब्लीटेशन थेरेपी) 
  • बीएससी (होम साइंस/फॉरेंसिक साइंस) 
  • बीएससी (ऑक्युपेशनल थेरेपिस्ट)
  • जियोलॉजी ऑनर्स
  • फिजियोथेरेपी
  • बॉटनी ऑनर्स
  • बीएससी-बायोटेक्नॉलजी
  • बीएससी लाइफ साइंस
  • बायो टेक
  • जूलोजी ऑनर्स
  • बीएससी (न्यूट्रीशन एवं डाइटेटिक्स)
  • बीएससी (डेयरी टेक्नलॉजी नर्सिंग, रेडियोलॉजी)
  • बीएससी(स्पीच एवं लैंगवेज पैथोलॉजी)
  • बीएससी (एंथ्रोपलॉजी), बीएससी (रेडियोग्राफी)
  • बीएससी (फूड टेक्नॉलजी)
  • बीएससी (होर्टीकल्चर)
  • बैचलर ऑफ फॉर्मेसी

बीएससी में पास होने के लिए कितने ग्रेड होता है (Bsc Me Pass hone ke liye kitne grade hote hai)

बीएससी में पास होने के लिए कितने ग्रेड चाहिए होता है। साथियों आज हम आपको इस सवाल का जवाब एक शेड्यूल के माध्यम से देने वाले हैं। जो कि इस प्रकार से है:–

S.NMarks % GradePoint 
1.90-100O(Outstanding)10
2.80<90A+(Excellent)9
3.70<80A(very good)8
4.60<70B+(Good)7
5.50<60B(AboveAverage)6
6.40<50C(Average)5
7.40P(Pass)4
8.ABAb(Absent)

साथियों हमें उम्मीद है कि आपको इस पोर्टल के माध्यम से समझ में आ गया होगा।कि कितना से कितना अंक के अंदर में कितना पॉइंट मिलते हैं। और इनके ग्रेड क्या होते हैं। 

बीएससी करने के फायदे (BSc Ke Fayde)

  • अच्छी प्राइवेट अस्पतालों में जॉब कर सकते हैं। 
  • यहां तक कि प्रोफेशनल नौकरी ओरिएंटेड कोर्सेज की भी कर सकते हैं। 
  • Bachelor of Science (बीएससी) डिग्री पूरी करने के बाद साइंस के छात्रों के लिए हजारों विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं। 
  • आप अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख सकते हैं। और यदि आप नौकरी की तलाश में हैं तो भी आप BSc के बाद अपने करियर की शुरूआत कर सकते हैं। 
  • हास्पिटल में भी जॉब कर सकते हैं। हॉस्पिटल के अलावा और भी काफी ऑफशोर होते हैं।
  • अक्सर, भारत और विदेशों में कुछ प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों या कॉलेजों में छात्रों को कोर्सेज पूरा करने के बाद बड़ी MNC के द्वारा सीधे नौकरी के लिए अप्पोइंट किया जाता है।
  • एक रिसर्च के फील्ड में एक अच्छी रिसर्च बन सकते हैं। 
  • बीएससी कोर्स को करने के बाद साइंस में मास्टर्स डिग्री यानी कि MSc का कोर्स कर सकते हैं। 

बीएससी की फीस कितनी होती है? (B.Sc. ki fees kitni hoti hai)

बीएससी कोर्स कि फीस सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में लगभग 10,000 से लेकर 15,000 तक कि होती है। वंही जबकि अन्य सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में लगभग 2000 से लेकर के लगभग 5000 तक के फीस हो सकती है। 

जैसे कि ऊपर हमने जाना कि Bsc एक अंडरग्रैजुएट कोर्स होता है। और 3 साल का कोर्स होता है। जबकि प्रत्येक साल 2-2 सेमेस्टर का एग्जाम होता है। इसमें कुल 6 सेमेस्टर होते हैं। तो चलिए अब हम चलते हैं। कि Bsc कोर्स को करने के लिए प्राइवेट और सरकारी कॉलेजों में कितनी फीस लगती है। 

प्राइवेट कॉलेज मे बीएससी फीस कितनी होती है?

प्राइवेट कॉलेज में बीएससी की फीस लगभग 20,000 से लेकर लगभग 25,000 तक होती है।प्राइवेट कॉलेज की फीस उसके कॉलेज या यूनिवर्सिटी के आधार पर होता है। 

प्राइवेट कॉलेज की फीस उसकी फैसिलिटी के पर निर्भर होता है। जबकि ऐसी फैसिलिटी सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में नहीं होती है।

साथियों अगर प्राइवेट में बीएससी की फीस के बारे में बताया जाए। तो इस कोर्स को करने के लिए लगभग 50,000 से लेकर लगभग 1,00,000 तक कि खर्च हो सकती है। 

आगे अगर फीस के बारे में बात करें तो लगभग 3 लाख से लेकर के लगभग 500000 लाख तक की हो सकती है। 

सरकारी कॉलेजों में बीएससी की फीस कितनी होती है?

किसी भी सरकारी कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज से डिग्री हासिल करना विद्यार्थियों के ऊपर निर्भर करता है। यदि कम खर्चे में आपने डिग्री को हासिल करना चाहते हैं। तो आप सरकारी कॉलेज से डिग्री हासिल कर सकते है। 

सरकारी कॉलेज में बीएससी की कोर्स करने के लिए फीस लगभग 10,000 से लेकर लगभग 15,000 तक कि हो सकती है। अगर अधिक के बाद किया जाए तो सरकारी कॉलेज में अधिक से अधिक से 20,000 तक की खर्च हो सकती है। 

ALSO READS:–

FAQ’S:– बीएससी में पास होने के लिए कितना नंबर चाहिए?

Qsn:- बीएससी में पास होने के लिए कितना नंबर चाहिए?

Ans:- 2450 में से 980 नंबर चाहिए

Qsn:- प्राइवेट कॉलेज में बीएससी की फीस कितनी होती है।

Ans:- लगभग 20,000 से 25,000 तक कि होती है।  

Qsn:- बीएससी करने के बाद कोन कोन सी जॉब मिलती है?

Ans:- डॉक्टर, इंजीनियर, पुलिस, साइंटिस्ट, पायलट लोको पायलट, इत्यादि।

बीएससी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए | BSc Me Passing Marks Kitna hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *