डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job

डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job:– डी फार्मा एक मेडिकल कोर्स है जिसमें विद्यार्थियों को दवाई के बारे में विशेषज्ञ ज्ञान प्राप्त होता है जिसे वह दवाई का सही उपयोग, मात्रा तथा दवाई के फायदे के बारे में प्रैक्टिकल करके जानकारी प्राप्त करता है।

डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job
डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job

ऐसे में हर साल लाखों-करोड़ों विद्यार्थी का सपना होता है कि वह डी फार्मा करने के बाद एक अच्छे जॉब पा सके। तो ऐसे में विद्यार्थियों के पास डी फार्मा कोर्स करने के लिए दो ऑप्शन होते हैं पहला- प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटी और दूसरा- सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी। 

आज मैं आप सभी को डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब के बारे में साथ ही डी फार्म के लिए योग्यता,डी फार्मा के लिए सरकारी कॉलेज,डी फार्मा के बाद जॉब एरिया,डी फार्मा कोर्स कि फीस आदि के बारे में विस्तार पूर्वक से सरल भाषा में बताने वाला हूँ। 

डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब (D Pharma Ke Baad Government Job)

डी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब काफी सारे होते हैं जिनमें से कुछ गवर्नमेंट जॉब इस प्रकार से है:–

  • रिसर्च ऑफिसर
  • हेल्थ इंस्पेक्टर
  • ड्रग थेरेपिस्ट
  • फार्मेसिस्ट
  • हॉस्पिटल ड्रग कोऑर्डिनेटर
  • पैथालॉजिकल साइंटिस्ट
  • केमिकल टेक्नीशियन
  • फूड एंड ड्रग इंस्पेक्टर
  • एनालिटिकल केमिस्ट

डिप्लोमा इन फार्मेसी के पश्चात काफी सारे गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब के लिए प्रत्येक साल बहुत सारे पद कि वैकेंसी आयोजित किए जाते हैं। भारत सरकार के द्वारा डी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब में भर्ती के लिए विभिन्न पदों कि एग्जाम का आयोजन कराया जाता है।

MUST READS:–

डी फार्मा क्या है (D Pharma Kya Hai)

डी फार्मा एक मेडिकल कोर्स है जिसका फुल फॉर्म डिप्लोमा इन फार्मेसी (Diploma In Pharmacy) होता है यह कोर्स 2 साल के होते हैं जिसमें 4 सेमेस्टर होते हैं तथा इस फोर्स में पात्रता के लिए न्यूनतम 12वीं कक्षा पास होने चाहिए। 

डी फार्मा कोर्स में विज्ञान से संबंधित जैसे- फार्मास्यूटिकल जुरिस्प्रूडेंस,हॉस्पिटल एंड चिकित्सीय फ्रेम, बायोकेमिस्ट्री, फार्मास्यूटिक्स,फार्मकोग्नोसि,फार्माकोलॉजी आदि काफी सारी जानकारियां विद्यार्थियों को दिए जाते हैं जब विद्यार्थी डी फार्मा कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो उसके पश्चात किसी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में 3 माह की ट्रेनिंग कराए जाते हैं।

जो विद्यार्थी डी फार्मा की कोर्स सरकारी कॉलेज से करना चाहते हैं तो उन्हें 12वीं कक्षा में पास होने के पश्चात एंट्रेंस एग्जाम देना होता है तभी जाकर के मेरिट लिस्ट के आधार पर डी फार्मा कोर्स के लिए पात्र होंगे।

डी फार्मा के बाद नौकरियों के क्षेत्र 

डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब क्राइटेरिया अनुसंधान एजेंसियां,खाद्य एवं औषधि प्रशासन,फार्मास्युटिकल फर्म आदि इस प्रकार से है।

  • शिक्षा संस्थान
  • क्लिनिक
  • अनुसंधान प्रयोगशालाएँ
  • खाद्य एवं औषधि प्रशासन
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
  • बिक्री और विपणन विभाग
  • अनुसंधान एजेंसियां
  • फार्मास्युटिकल फर्म
  • सरकारी अस्पताल
  • निजी दवा भंडार
  • निजी अस्पताल
  • आदि….

डी फार्मा कोर्स की फीस (D Pharma Course Ki Fees Kitni Hoti Hai)

डी फार्मा कॉलेज की फीस लगभग 40 हजार से लेकर के लगभग 45 हजार तक की हो सकती है जैसे उम्मीदवार को सरकारी मेडिकल लाइसेंस भी मिल जाते हैं। निजी कॉलेज से लाइसेंस प्राप्त करने के लिए लगभग 80 हजार से लेकर के लगभग 1 लाख तक कि फीस लग सकती है।

वहीं अगर विदेशों में डी फार्मा कोर्स की फीस के बारे में बात किया जाए तो विदेशों में डी फार्मा कॉलेज की फीस लगभग 10 लाख से लेकर के 20 लाख तक की हो सकती है डी फार्मा कोर्स कि फीस अलग-अलग प्राइवेट कॉलेज, गवर्नमेंट कॉलेज तथा यूनिवर्सिटी में अलग-अलग निर्धारित होता है।

वास्तविक डि फार्मा कॉलेज फीस जानने के लिए कॉलेज या यूनिवर्सिटी कि ऑफिशल वेबसाइट में जाकर के चेक करें वहीं से आप डी फार्मा कॉलेज के वास्तविक फीस के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

D Pharma के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

D-pharma में अगर सैलेरी कि बात किया जाए तो सरकारी क्षेत्र में लगभग 20 हजार महीने से लेकर के लगभग 30 महीने तक की हो सकती है। जबकि प्राइवेट क्षेत्र में लगभग 10 हजार से लेकर के लगभग 25 हजार तक की हो सकती है। 

डी फार्मा केवल सरकारी जॉब की सैलरी से प्राइवेट जॉब की सैलरी में काफी कम सैलरी होती है बंटी वर्मा के बाद सैलरी सरकारी हॉस्पिटल तथा प्राइवेट हॉस्पिटल के मध्यम पर निर्भर करती है साथी किस पोस्ट में कार्य कर रहे हैं उम्मीदवार यह बात  ऊपर निर्भर करता है।

जैसे-जैसे उम्मीदवार की एक्सपीरियंस बढ़ते जाते हैं वैसे वैसे उनकी सैलरी में भी वृद्धि होती है।

डी फार्मा के लिए सरकारी कॉलेज (D Pharma Ke Liye Government College List In Hindi)

बी फार्मा के लिए सरकारी कॉलेज कुछ इस प्रकार से है:–

सरकारी कॉलेजस्थित स्थान 
गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक (GDP)रिसाइकिल
गवर्नमेंट गर्ल्स पॉलिटेक्निक (GCPA)इलाहाबाद
गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फ्रेम (GCP)बैंगलोर
गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज (GMC)कोट्टायम
बी.के. मोदी गवर्नमेंट फ्रेम कॉलेज (BKMGPC)राजकोट
बिहार कॉलेज ऑफ फ्रेम (BCP)पटना
गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज (GMC)पटियाला
गवर्नमेंट गर्ल्स पॉलीटेक्निक (GGP)रायपुर
दीपसारदिल्ली
डी फार्मा के लिए सरकारी कॉलेज

आदि ओर भी काफी सारे डी फार्मा कॉलेज होते हैं जिनमे से कुछ कॉलेजों का ही हमने उल्लेख किया है।

डी फार्म के लिए योग्यता (D Pharma Ke Liye Yogyata)

डी फार्मा के लिए योग्यता 12वीं कक्षा में PCB (Physics Chemistry and Biology) या PCM ( Physics Chemistry and Mathematics) सब्जेक्ट के साथ 55% से मान्यता प्राप्त करनी होती है तथा अलग-अलग कैटेगरी के लिए अलग-अलग परसेंटेज निर्धारित होती है।

  • 12वीं कक्षा में 55% पीसीबी सब्जेक्ट के साथ मान्यता प्राप्त करना होता है।
  • Sc वर्ग के उम्मीदवार को हर एक सब्जेक्ट में 55% अंक लाना होता है।
  • ST और PH वर्ग के उम्मीदवार को प्रत्येक सब्जेक्ट में 55% अंक लाना अनिवार्य होता है।
  • समुदाय वर्ग के उम्मीदवार को 50% अंक लाना होता है।
  • यह कोई निर्धारित परसेंटेज नहीं है अलग-अलग यूनिवर्सिटी व कॉलेज में डी फार्मा के लिए अलग-अलग परसेंट तथा मार्क्स निर्धारित होते हैं असल में D-Pharma पात्रता परसेंटेज तथा मार्क्स जानने के लिए कॉलेज तथा यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट में लॉगइन करके चेक करें। 
  • डी फार्मा करने के लिए पीसीआई (PCI) के द्वारा योग्यता निर्धारित कि गयी है।

डी फार्मा पात्रता पाठ्यक्रम

Category Percentage 
Sc Category55%
St Category55%
Ph Category55%
Samuday Category50%
D Pharma Ke Liye Percrentage

Note:- अलग-अलग कॉलेज व यूनिवर्सिटी में अलग-अलग परसेंटेज निर्धारित होते हैं।

डी फार्मा के फायदे (D Pharma Ke Fayde)

डी फार्मा करने से फायदे काफी सारे होते हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार से हैं।

  • यदि आप चाहें तो खुद का चमकीला फ्रेम या व्होलसेल फ्रेम बिजनेस सुरु कर सकता है।
  • जितने भी फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज है, वहा डी फार्मा के व्याकरण को आसानी से नौकरी मिल जाती है।
  • डी फार्मा के बाद अगर विद्यार्थी चाहे तो आगे की पढ़ाई भी कर सकते हैं।
  • डी फार्मा करके आप मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।
  • फार्मास्यूटिकल कंपनी द्वारा लुक्स को मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर जॉब प्रदान किया जाता है। जिसमें आप जॉब के लिए भाग ले सकते हैं।
  • किसी भी क्षेत्र में सरकारी मेडिकल या हॉस्पिटल में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • इसके अलावा हेल्थ सेंटर, एनजीओ, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर जैसे बड़े पैमाने सेक्टर जॉब आसानी से पा सकते हैं।

FAQ’S: डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job

Q:- डी फार्मा के बाद कौन कौन सी गवर्नमेंट जॉब मिलती है?

Ans– डी फार्मा के बाद हॉस्पिटल ड्रग कोऑर्डिनेटर, पैथालॉजिकल साइंटिस्ट, केमिकल टेक्नीशियन आदि जैसे गवर्नमेंट जॉब मिलती है।

Q:- डी फार्मा गवर्नमेंट कॉलेज फीस कितनी होती है?

Ans– डी फार्मा गवर्नमेंट कॉलेज फीस लगभग 40 हजार से लेकर के लगभग 45 हजार तक की हो सकती है जबकि लाइसेंस प्राप्त करने के लिए लगभग 80 हजार तक कि फीस भुगतान करना पड़ सकता है।

Q:- डी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब सैलरी कितनी होती है?

Ans– डी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब सैलरी लगभग 20 हजार से ले करके लगभग 30 हजार तक की हो सकती है।

डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब | D Pharma Ke Baad Government Job

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *