एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब | M.Sc Ke Baad Government Job 

एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब | M.Sc Ke Baad Government Job:– M.Sc. एक 2 साल का पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री कोर्स है इस कोर्स में विद्यार्थियों को रिचार्ज से जुड़े जानकारी प्राप्त होते हैं जो कामों को एक्सपर्ट बनाने में काफी मददगार होते हैं तथा इनसर्चिंग के कामों में एक्सपर्ट होने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।

अगर आज के समय में देखा जाए तो लगभग लाखों-करोड़ों विद्यार्थियों का सोच होता है गवर्नमेंट जॉब करने का और हां गवर्नमेंट जॉब पाने के लिए एमएससी के बाद कॉम्पिटेटिव एग्जाम देने के लिए भी सोच लेते हैं।

एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब | M.Sc Ke Baad Government Job 

ऐसे में उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि एमएससी करने के बाद कौन कौन से गवर्नमेंट जॉब होते हैं? क्या आपके भी मन में एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब के लिए तरह-तरह के सवाल चल रहे हैं तो घबराइए नहीं आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से गवर्नमेंट जॉब से संबंधित विस्तार पूर्वक से जानकारी देने वाले।

गवर्नमेंट जॉब से संबंधित पूर्ण रूप से जानकारी पाने के लिए इस आर्टिकल एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब (M.Sc Ke Bad Government Job) में अंत तक बने रहिए है। 

Table of Contents

एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब (M.Sc Ke Baad Government Job)

एमएससी की कोर्स को पूरी करने के बाद उम्मीदवार के पास काफी सारे गवर्नमेंट जॉब के विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं जिनमें से कुछ विकल्प आपके सामने नीचे इस प्रकार से है:–

  • प्राध्यापक
  • प्रोफेसर
  • ऑफिसर
  • प्रबंधक
  • सरकारी हॉस्पिटल
  • अनुसंधान सहायक
  • सहायक प्रोफेसर
  • क्षेत्र अधिकारी
  • कृषि अनुसंधान संगठन
  • मात्रात्मक विकासकर्ता
  • बायो मेडिकल केमिस्ट
  • फूड एंड ड्रग इंस्पेक्टर
  • वाइल्डलाइफ एंड फिशिंग डिपार्टमेंट
  • वाइल्डलाइफ एंड फिशिंग डिपार्टमेंट
  • एग्रीकल्चर रिसर्च आर्गेनाईजेशन
  • चिकित्सीय अनुसंधान विशेषज्ञ
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट मैनेजर
  • ट्रेजरी मैनेजमेंट स्पेशलिस्ट आदि…..
1.बीएससी एग्रीकल्चर के बाद गवर्नमेंट जॉब
2.बीकॉम के बाद गवर्नमेंट जॉब
3.डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब
4.बी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब
5.बीएससी नर्सिंग के बाद गवर्नमेंट जॉब
6.पॉलिटेक्निक के बाद गवर्नमेंट जॉब

1. एमएससी गणित के बाद गवर्नमेंट जॉब (M.sc Math Ke Bad Government Job)

एमएससी की पढ़ाई गणित सब्जेक्ट को लेकर के पूरा करने से उम्मीदवार निम्नलिखित जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं जैसे:–

  • भेल
  • यूपीएससी
  • एनटीपीसी 
  • सीबीआई
  • सीआईडी
  • आईएएस
  • क्वांटिटेटिव डेवलेपर
  • नेशनल एनालिस्ट
  • हाउसिंग एनालिस्ट
  • रीजनल एनालिस्ट
  • रिसर्च एनालिस्ट
  • क्वालिफाइंग रिस्क एनालिस्ट
  • इक्विटी क्वांटिटेटिव एनालिस्ट
  • डायरेक्टर स्टैटिस्टिकल प्रोग्रामिंग आदि…

2. एमएससी केमिस्ट्री के बाद गवर्नमेंट जॉब (M.Sc Chemistry Ke Bad Government Job)

एमएससी केमिस्ट्री से मानता प्राप्त करने के बाद उम्मीदवार निम्नलिखित गवर्नमेंट जॉब के लिए योग्य होते हैं जो कि नीचे इस प्रकार से दिया गया है:- 

  • रिसर्च एंड एजुकेशन इन कैंसर
  • इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन
  • एटोमिक रिसर्च सेंटर
  • एडवांस रिसर्च सेंटर
  • फॉर भाभा ट्रीटमेंट
  • भारत पेट्रोलियम
  • डीआरडीओ
  • रिसर्च इंस्टीट्यूट के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

3. एमएससी भौतिक विज्ञान के बाद जॉब (M.sc Physics Ke Bad Government Job)

एमएससी भौतिक विज्ञान से मान्यता प्राप्त करने के पश्चात उम्मीदवार काफी सारे जॉब कर सकते हैं जिनमें से कुछ जॉब नीचे इस प्रकार से दर्शाया गया है:–

  • नेटवर्क व्यवस्थापक
  • अनुसंधान वैज्ञानिक
  • इंटरफेस इंजीनियर
  • सहायक वैज्ञानिक
  • सहेयक प्रोफेसर
  • प्रयोगशाला के तकनीशियन
  • चिकित्सा भौतिक विज्ञानी
  • अनुसंधान अधिकारी
  • अनुसंधान विश्लेषक आदि..

एमएससी के कोर्स कौन-कौन से होते हैं (M.Sc Ke Course Kon Kon Se Hote Hai)

  • मास्टर ऑफ साइंस इन नर्सिंग।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन एकाउंटिंग।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन फिजिक्स।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन फाइनेंस।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन टैक्सेशन।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन इंजीनियरिंग मैनेजमेंट।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन मैनेजमेंट सिस्टम्स।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन केमिकल टेक्नोलॉजी।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन मैन्युफैक्चरिंग मैनेजमेंट।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन कांशसनेस स्टडीज।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन टेलेकम्युनिकशन्स सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग।
  • मास्टर ऑफ साइंस इन फार्मास्यूटिकल ऑपरेशन्स एंड मैनेजमेंट।

कॉलेजों व यूनिवर्सिटी के लिए आवेदन प्रक्रिया (College And University Ke Liye Apply Process)

उम्मीदवार को कॉलेज व यूनिवर्सिटी में दाखिला होने के लिए निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होता है जैसे कि:–

  • सर्वप्रथम उम्मीदवारी को यूनिवर्सिटी में दिया गया ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर के रजिस्ट्रेशन करना होता है।
  • यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट में साइन इन करने के पश्चात चुने हुए कोर्स को चयन करना होता है।
  • यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर के उम्मीदवार को एक नेम और आईडी, पासवर्ड बनाना होता है।
  • इसके बाद उम्मीदवार को यूनिवर्सिटी में ऑफलाइन फॉर्म जमा करना होता है जिसमें आवेदन शुल्क भुगतान करना होता है।
  • यूनिवर्सिटी में दाखिला होने के लिए प्रवेश परीक्षा में मान्यता प्राप्त करना होता है।
  • यूनिवर्सिटी में उम्मीदवार के द्वारा प्रवेश परीक्षा में लाए गए अंकों के आधार पर ही प्रवेश लिया जाता है।
  • शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ यूनिवर्सिटी में ऑफलाइन आवेदन फॉर्म भरना होता है।

एमएससी में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं (Msc Me Kon Kon Se Subject Hote Hai)

एमएससी विद्यार्थियों के लिए आने वाली सब्जेक्ट काफी सारे होते हैं जिनमें से कुछ नीचे इस प्रकार दर्शाया गया है:–

  • एनवायर्नमेंटल साइंस (Environmental Science)
  • कंप्यूटर साइंस (Computer Science)
  • बायोकेमिस्ट्री (Biochemistry)
  • इलेक्ट्रॉनिक्स (Electronics)
  • मैथमेटिक्स (Mathematics)
  • केमिस्ट्री (Chemistry)
  • फिजिक्स (Physics)
  • बायोलॉजी (Biology)
  • जूलॉजी (Zoology)
  • बॉटनी (Botany) आदि………..

एमएससी कोर्स के बाद सबसे लोकप्रिय कोर्स (M.Sc Ke Baad Popular Course)

एमएससी कोर्स के बाद अगर सबसे लोकप्रिय कोर्स की बात किया जाए तो काफी सारी होते हैं जिनमें से हमने कुछ कोर्स के बारे में नीचे इस प्रकार से बताया है:–

  • M.Phil
  • MBA
  • B.Ed
  • PhD
  • Post Graduate Diploma in
  • Management(PGDM)
  • Civil services exam
  • Digital marketing
  • Merchant Navy

एमएससी के बाद सर्टिफाइड कोर्स (M.Sc Ke Bad Certified Course)

एमएससी के बाद निम्नलिखित सर्टिफाइड कार्स नीचे इस प्रकार से दर्शाए गए हैं:–

  • Short-term certificate courses in Graphic
  • PG Diploma in Digital Marketing
  • Foreign Language Courses
  • Designing
  • Web Designing
  • Photography
  • Tally Course
  • Filmmaking
  • Animation
  • PGDCA
  • PGDM
  • JAVA

एमएससी के बाद सैलरी (M.Sc Ke Baad Salary)

एमएससी करने के बाद उम्मीदवार के पास काफी सारे पोस्ट होते है अलग-अलग पोस्ट के उम्मीदवारों की सैलरी अलग-अलग निर्धारित की गई है जो कि नीचे इस प्रकार से है:–

  • प्रयोगशाला तकनीशियन अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 4 लाख तक कि हो सकती है। 
  • स्टैटिस्टिशियन अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 6 लाख तक हो सकती है।
  • बॉयोमेडिकल केमिस्ट अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 3 – 4 लाख तक कि हो सकती है।
  • रिसर्चर और अकाउंटेंट अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 3 – 5 लाख तक कि हो सकती है।
  • मैनेजर अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 14-17 लाख तक कि हो सकती है।
  • रिसर्च असिस्टेंट अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 4 – 5 लाख तक कि हो सकती है।
  • लैब तकनीशियन अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 4 – 6 लाख तक कि हो सकती है।
  • फील्ड अफसर अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 11-12 लाख तक कि हो सकती है।
  • असिस्टेंट प्रोफेसर अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 6 – 9 लाख तक कि हो सकती है।
  • स्टटिस्टिशन अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 6 – 8 लाख तक कि हो सकती है।
  • शिक्षक अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 5 – 7 लाख तक कि हो सकती है।
  • क्षेत्र अधिकारी अधिकारी की वार्षिक सैलरी लगभग 25 लाख तक कि हो सकती है।

एमएससी कोर्स के लिए योग्यता (MSc Course Qualification In Hindi)

एमएससी कोर्स के लिए विद्यार्थियों कि योग्यता नीचे निम्नलिखित प्रकार से दर्शाया गया है:–

  • 12वीं कक्षा में पीसीबी (PCB) सब्जेक्ट के साथ मान्यता प्राप्त होनी चाहिए।
  • 12वीं कक्षा में पीसीबी (PCB) सब्जेक्ट के साथ कम से कम 45% से 55% अंक लाना होता है।
  • 12वीं कक्षा में मान्यता प्राप्त करने के बाद विद्यार्थी बीएससी (B.Sc) कोर्स में दाखिला हो सकते हैं।
  • बैचलर डिग्री (B.Sc) में विद्यार्थियों को न्यूनतम 45% से 60% अंक लाना अनिवार्य होता है।
  • बैचलर के डिग्री में मान्यता प्राप्त करने के बाद ही विद्यार्थी एमएससी (M.Sc) कोर्स के लिए पात्र होंगे।
  • विद्यार्थियों के पास मान्यता प्राप्त बोर्ड मार्कशीट या सेकेंडरी विद्यालय की मार्कशीट होना अत्यावश्यक माना जाता है।
  • विदेशों में एमएससी कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों को GRE/GMT अंक लाना होता है तभी जाकर के विद्यार्थियों को मांगा जाता है।
  • कहीं-कहीं अन्य माहा विद्यालयों ( Colleges or Universities) में 1 या 2 साल की एक्सपीरियंस का टेस्ट लिया जाता है।

एमएससी कोर्स की फीस कितनी होती है (M.Sc Course Ki Fees Kitni Hoti Hai)

एमएससी कोर्स की फीस अगर सरकारी कॉलेजों की बात किया जाए तो लगभग 25, 000 से लेकर के 70,000 तक की हो सकता है जबकि यह फीस अलग-अलग कॉलेजों में अलग-अलग लिए जाते हैं तथा प्राइवेट कॉलेजों में एमएससी कोर्स की फीस लगभग 1,00,000 से लेकर के 5,00,000 तक हो सकती हैं।

एमएससी के कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों के पास सरकारी कॉलेज व यूनिवर्सिटी तथा प्राइवेट कॉलेज व यूनिवर्सिटी का ऑप्शन होता है जिनमें से उम्मीदवार को किसी एक को चुन करके एमएससी की कोर्स को करना होता है।

जबकि ऊपर में हमने पढ़ा की गवर्नमेंट कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज की फीस से काफी कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में कोर्स की फीस के अलावा अनुलोम फीस ट्यूशन फीस आदि जैसे काफी सारे फेस का भी भुगतान करना पड़ता है।

एमएससी कोर्स करने के फायदे (M.Sc. Karne Ke Fayde)

एमएससी के कोर्स करने के बाद उम्मीदवार के पास काफी सारे फायदे देखने को मिलते हैं जैसे कि आपकोटेक्नोलॉजी की अच्छी कि अच्छी समझ होगी।, 

एक रिसर्चर के रूप में जॉब कर सकते हैं।, टीचिंग के क्षेत्र में एक अच्छी जॉब पाने का अवसर खुल जाता है आदि एमएससी करने के और भी काफी सारे फायदे होते हैं जो कि नीचे इस प्रकार से है:–

  • MSc कोर्स एक साइंस की पोस्टग्रेजुएशन डिग्री है, जिसे करने के बाद विद्यार्थियों को साइंस और IT क्षेत्र की अच्छी नॉलेज हो जाती है।
  • एमएससी की कोर्स करने के बाद विधार्थी एक अच्छे जानकार तथा एक्सपर्ट बन जाता है।
  • यदि उम्मीदवार एमएससी केमेस्ट्री से मान्यता प्राप्त किए हैं तो वह Bhabha Atomic Research Center, DRDO में आसानी से छुपा कर के अपना केरियर बना सकते हैं।
  • एमएससी कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवार एक अच्छे रिसर्चर की जॉब आसानी से कर सकते हैं।
  • एमएससी कि कोर्स करने के बाद उम्मीदवार CBI,CID,UPSC की जॉब आसानी से पा सकते हैं। 
  • एमएससी करने के बाद विद्यार्थियों के पास काफी सारे विदेशों के लिए जॉब ऑप्शन खुल जाता है।
  • एमएससी करने के बाद उम्मीदवार NET या SET कि एग्जाम दे करके एक प्रोफेशनल टीचर या असिस्टेंट टीचर या टीचर के क्षेत्र में कोई भी जॉब आसानी से कर सकते हैं। 
  • एमएससी कोर्स करने के बाद उम्मीदवार को एक पोस्ट ग्रेजुएट भी कहा जाता है।
  • एमएससी में मान्यता प्राप्त करने के पश्चात उम्मीदवार को साइंस के क्षेत्र में कहीं भी कोई भी जॉब आसानी से मिल जाती है। 
  • एमएससी कोर्स करने के बाद उम्मीदवार किसी भी बड़े बड़े प्राइवेट कंपनियों में एक मास्टर के रूप में जॉब आसानी से पा सकते हैं।

M.Sc Course के लिए भारतीय टॉप यूनिवर्सिटीज

भारतीय एमएससी कार्य करने वाले टॉप कॉलेजों और यूनिवर्सिटी के नाम नीचे निम्नलिखित प्रकार से दर्शाया गया है:–

  • के जे सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च। 
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस।
  • भारतीय विदेश व्यापार संस्थान।
  • एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल।
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय।
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय।
  • दिल्ली विश्वविद्यालय।
  • IIM 
  • MDI 
  • IIM 

इंडियन टॉप एमएससी कोर्स यूनिवर्सिटी पाठ्यक्रम विवरण

क्र.सं.कॉलेज व यूनिवर्सिटी के नामस्थित स्थान
1.के जे सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च।मुंबई
2.सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस।पुणे
3.भारतीय विदेश व्यापार संस्थान।नई दिल्ली
4.एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल।नोएडा
5.अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालयअलीगढ़
6.बनारस हिंदू विश्वविद्यालयवाराणसी
7.दिल्ली विश्वविद्यालयदिल्ली
8.आईआईएम (IIM)अहमदाबाद
9.एमडिआई (MDI)गुरुग्राम
10.आईआईएम (IIM)लखनऊ

एमएससी प्रवेश परीक्षा (M Sc Entrance Exam)

एमएससी के लिए प्रवेश परीक्षा किसी किसी कॉलेज व यूनिवर्सिटी में आयोजित करके लिए जाते हैं इसमें आयोजित प्रतियोगिता में मान्यता प्राप्त उम्मीदवार को ही एमएससी कोर्स के लिए पात्र माना जाता है। एमएससी प्रवेश परीक्षा प्रतियोगिता नीचे इस प्रकार से है:–

  • BHU Entrance Exam
  • JNU M.Sc. Entrance
  • AIIMS PG
  • IIT JAM
  • IPU CET
  • DUET
  • JNTU

FAQ’S 

प्रश्न:- एमएससी करने के बाद कौन कौन से गवर्नमेंट जॉब मिलते हैं?

उत्तर–एमएससी करने के बाद काफी सारे गवर्नमेंट जॉब ऑप्शन खुल जाता है जैसे कि वाइल्डलाइफ एंड फिशिंग डिपार्टमेंट,वाइल्डलाइफ एंड फिशिंग डिपार्टमेंट, एग्रीकल्चर रिसर्च आर्गेनाईजेशन,चिकित्सीय अनुसंधान विशेषज्ञ,रिसर्च एंड डेवलपमेंट मैनेजर आदि।

प्रश्न:- एमएससी कोर्स में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

उत्तर– जैसे की हम सब को यह पता है कि M.Sc. कोर्स में कोई खास सब्जेक्ट नहीं होता है ना इनकी कोई खुद का सब्जेक्ट होता है जैसे एनवायर्नमेंटल साइंस (Environmental Science),कंप्यूटर साइंस (Computer Science),बायोकेमिस्ट्री (Biochemistry), इलेक्ट्रॉनिक्स (Electronics) आदि। एमएससी कोर्स के पहले जितने भी कोर साइंस स्ट्रीम को लेकर के किए हैं ठीक उसी सब्जेक्ट के अंतर्गत सारे सब्जेक्ट आते हैं।

प्रश्न:- एमएससी के लिए कितना परसेंटेज चाहिए?

उत्तर– एमएससी करने के लिए विद्यार्थियों को 12वीं कक्षा में 45% से 55% अंक लाना होता है जैसा कि हम सभी जानते हैं कि M Sc एक पोस्ट अंडरग्रैजुएट डिग्री कोर्स है इसलिए M.Sc. कोर्स में जाने के लिए बैचलर डिग्री में न्यूनतम 45% से 60% अंक लाना अनिवार्य होता है। 

एमएससी के बाद गवर्नमेंट जॉब | M.Sc Ke Baad Government Job 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *