एमबीबीएस कितने साल का होता है? | MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai

एमबीबीएस कितने साल का होता है? | MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai: नमस्कार साथियों बहुत-बहुत स्वागत है आपको हमारे Jabtak.in कि वेबसाइट पर। क्या साथियों आप 12वीं कि परीक्षा से मान्यता प्राप्त कर चुके हैं, या 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं, और आपके भी मन में मेडिकल के क्षेत्र से एमबीबीएस कोर्स में केरियर बनाने का विचार आ रहा है। 

ऐसे में आपके पास एमबीबीएस कोर्स के बारे में कुछ विशेष जानकारी नहीं होती है। तो आज मैं आपको बता दुं कि आप एकदम सही जगह से सही आर्टिकल को पढ़ रहे हैं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं।

कि आप इस आर्टिकल के माध्यम से एमबीबीएस कोर्स कितने साल का होता है– MBBS Course Kitne Saal Ka Hota Hai. एमबीबीएस करने के फायदे, एमबीबीएस का फुल फॉर्म क्या होता है? (MBBS ka full form in Hindi) इत्यादि के बारे में विस्तारपूर्वक जानेंगे।

एमबीबीएस कोर्स से संबंधित सभी जानकारी पाने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। 

Table of Contents

एमबीबीएस कितने साल का होता है? | MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai

एमबीबीएस 4.5 साल का कोर्स होता है, और 1 साल का Mandatory Internship देना होता है। यानी कि MBBS कुल 5.5 साल का होता है। MBBS की कोर्स 4.5 साल पूरा होने के बाद उम्मीदवार को डॉक्टर के साथ किसी हॉस्पिटल में 1 साल कि ट्रेनिंग करनी होती है। 

एमबीबीएस कोर्स को सबसे लोकप्रिय कोर्स माना जाता है, मेडिकल लाइन में सबसे ज्यादा चुने जाने वाले क्षेत्र में से एक है। इस कोर्स को 9 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है जो की प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने के होते हैं। 

एमबीबीएस कोर्स क्या होता है (MBBS Course Kya Hota Hai)

एमबीबीएस डॉक्टरी क्षेत्र का एक कोर्स है जोकि स्नातक डिग्री (graduation) स्तर का होता है। एमबीबीएस का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ मेडिसिन और बैचलर ऑफ सर्जन होता हैं।

ऊपर में जैसे हमने बताया कि एमबीबीएस 5.5 साल कि समय सीमित कोर्स है जिसकी एक साल की ट्रेनिंग सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल से डॉक्टर की मौजूदा में कराई जाती है। 

MBBS की कोर्स को दो लेवल में कर सकते हैं?

  • राष्ट्रीय लेवल (National level)
  • अंतरराष्ट्रीय लेवल (International level) 

राष्ट्रीय लेवल एमबीबीएस कोर्स  (National level MBBS Course)

राष्ट्रीय लेबल यानी जैसे कि हम भारत के निवासी हैं और भारत के किसी भी राज्य, राजधानी या जिले से एमबीबीएस कोर्स की तैयारी करते हैं तो इसे राष्ट्रीय लेवल कहा जाता है। 

भारत में निट-यूजी (NEET-UG) एमबीबीएस कोर्स के लिए आयोजित एक मात्र राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा है जोकि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के द्वारा साल में एक बार प्रवेश परीक्षा (Neet Exam) आयोजित कराया जाता है।

भारत में नीट रिजल्ट में क्वालीफाई करने के पश्चात मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) के माध्यम से आगे कि प्राक्रिया को आयोजित कराई जाती है अर्थात मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस कोर्स में दाखिला कराई जाती है।

अंतरराष्ट्रीय लेवल एमबीबीएस कोर्स (International level MBBS Course)

अपने देश को छोड़ कर के बाहर किसी अन्य देश से एमबीबीएस की डिग्री करना इंटरनेशनल लेवल एमबीबीएस कोर्स होता है। 

भारत से बाहर किसी अन्य देश के मेडिकल कॉलेज में दाखिला होने से पहले भारत सरकार के अनुसार विदेशी चिकित्सा स्नातक परीक्षा (FMGE) से मान्यता प्राप्त करनी होती है जो कि राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (NBE) के द्वारा आयोजन किया जाता है।

साथ ही विद्यार्थियों को मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) कराना होता है।

विदेशों में एमबीबीएस कोर्स के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटीज 

विदेशों में एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए काफी सारे देश होते हैं जिनमेसे कुछ देश इस प्रकार से है। 

  • किर्गिज़स्तान
  • फिलीपींस
  • यूक्रेन
  • जर्मनी
  • रूस
  • चीन 
  • इत्यादि……..

1. किर्गिज़स्तान देश में एमबीबीएस कोर्स 

किर्गिज़स्तान में एमबीबीएस कि कोर्स 6 साल कि होती है जबकि 5 साल की अध्याय और 1 साल की ट्रेनिंग होती है।

किर्गिज़स्तान के मेडिकल क्षेत्र में एमबीबीएस कोर्स उन विद्यार्थियों के लिए होता है। जो अपने मेडिकल की पढ़ाई बजट के हिसाब से करना चाहते हैं।

भारतीय मेडिकन छात्रों के लिए किर्गिज़स्तान में एमबीबीएस कोर्स करना सबसे अधिक पसंद होता है। 

भारतीय छात्रों के लिए किर्गिज़स्तान में एमबीबीएस कोर्स कॉलेज

  • किर्गिज़ रूसी स्लाव विश्वविद्यालय
  • इंटरनेशनल स्कूल ऑफ मेडिसिन, बिश्केक
  • जलालाबाद राज्य विश्वविद्यालय, जलालाबाद
  • ओश स्टेट यूनिवर्सिटी, मेडिकल फैकल्टी
  • किर्गिज़ राज्य चिकित्सा अकादमी
  • एशियाई चिकित्सा संस्थान, कांट
  • इत्यादि….

2. फिलीपींस देश में एमबीबीएस कोर्स 

फिलीपींस दक्षिण-पूर्वी एशिया में स्थित है। जो कि एक अंग्रेजी बोलने वाले देश में से आता हैं। जिसे  लोग ‘फिलीपींस गणतंत्र’ भी कहते हैं।

फिलीपींस में एमबीबीएस कोर्स 5. 5 साल के होते हैं जबकी इंडिया की भांती 1 साल का किसी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल से ट्रेनिंग करना होता है।

 फिलीपींस देश में ग्रेजुएट मेडिकल छात्र को ग्रेजुएट नही काहा जाता है बल्कि उन्हें एमडी के नाम से जाना जाता है।

फिलीपींस में टॅप मेडिकल कॉलेज 

  • साउथवेस्टर्न यूनिवर्सिटी
  • यूवी गुल्लास कॉलेज ऑफ मेडिसिन
  • कागायन स्टेट यूनिवर्सिटी
  • सदा सहायता विश्वविद्यालय DALTA
  • सैंट टॉमस विश्वविद्यालय
  • इत्यादी.………

3. यूक्रेन देश में एमबीबीएस कोर्स 

यूक्रेन देश में एमबीबीएस कोर्स 6 साल की होती है जो कि इस 6 साल में लागत लगभग 20 लाख होती है। यूक्रेन में दाखिला होने के लिए किसी प्रकार का प्रवेश परीक्षा नहीं देना होता है। 50% से 12वीं पास विद्यार्थी आसानी से यूक्रेन में दाखिला सकते हैं। 

यूक्रेन पूर्वी यूरोप में स्थित एक देश है जिसका उत्तरी सीमा में बेंगलूर,दक्षिणपश्चिम में रोमानिया, पूर्व में रूस, पश्चिम में हंगरी स्थित है। भारतीय विद्यार्थी मेडिकल के क्षेत्र में यूक्रेन से एमबीबीएस करना काफी पसंद करते हैं।

यूक्रेन में टॉप मेडिकल कॉलेज

  • फ्रैंकिव्स्क नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • उज़होरोड नेशनल यूनिवर्सिटी
  • लविवि नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • पोल्टावा स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • इत्यादि……

4. जर्मनी देश में एमबीबीएस कोर्स 

जर्मनी में एमबीबीएस कोर्स 3 साल के होते हैं जबकि 3 साल में 1 साल की ट्रेनिंग होती हैं जो किसी हॉस्पिटल में l डॉक्टर के मध्य करना होता है। साथ ही जर्मनी एमबीबीएस कोर्स में 6 सेमेस्टर होते हैं और प्रत्येक साल 2-2 सेमेस्टर के एग्जाम लिए जाते हैं।

यदि विद्यार्थी मेडिकल कोर्स को पूरा करने के बाद अपनी पढ़ाई को जारी रखना चाहते हैं तो वह आगे 5 या 6 साल की एक विशेष पाढाई करके मेडिकल स्पेशलिस्ट बन सकते हैं।

जर्मन में टॉप मेडिकल कॉलेज

  • प्रौद्योगिकी के ड्रेसडेन विश्वविद्यालय
  • मैगडेबर्ग-स्टेंडल विश्वविद्यालय
  • लीपज़िग विश्वविद्यालय
  • गोटिंगेन विश्वविद्यालय
  • बोनो विश्वविद्या
  • इत्यादी……..

5. रूस देश में एमबीबीएस कोर्स

रूस में एमबीबीएस का कोर्स 6 साल के होते हैं जबकि 1 साल की एंट्रेंस (NMC,MCI,WHO) एग्जाम देना होता है। तथा 10 सेमेस्टर होते हैं जबकि प्रत्येक साल 2-2 सेमेस्टर के एग्जाम लिए जाते हैं।

रूस में टॉप मेडिकल यूनिवर्सिटी

  • सेंट पीटर्सबर्ग स्टेट पीडियाट्रिक अकादमी
  • दागिस्तान स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • वोल्गोग्राड स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • क्रीमियन फेड्रल यूनिवर्सिटी
  • इवानोवो स्टेट मेडिकल अकादमी
  • इत्यादि………

6. चीन देश में एमबीबीएस कोर्स 

चीन देश में एमबीबीएस कोर्स 6 साल के होते हैं साथ ही 1 साल की एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। चीन में एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवार को 12वीं कक्षा से लगभग 60% अंक लाना अनिवार्य होता है।

चीन में टॉप मेडिकल कॉलेज

  • जिलिन यूनिवर्सिटी मेडिकल स्कूल
  • चीन मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • नानजिंग मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • इत्यादि……… 

ALSO READS:–

एमबीबीएस कोर्स के बाद जॉब

मेडिकल के क्षेत्र में एमबीबीएस डिग्री धारक उम्मीदवार के पास काफी सारे जॉब ऑप्शन होते हैं जिनमें से कुछ जॉब्स ऑप्शन निचे इस प्रकार से निम्नलिखित हैं।

  • डॉक्टर
  • मेडिकल एनालिस्ट
  • दंत चिकित्सक
  • फोरेंसिक ऑफिसर
  • गाइनेकोलॉजिस्ट
  • त्वचा विशेषज्ञ
  • रेडियोलोकेटर
  • न्यूरोलॉजिस्ट
  • न्यूट्रिशनिस्ट
  • पैथोलॉजिस्ट
  • पेडियाट्रिशियन
  • शोधकर्ता
  • सर्जन

एमबीबीएस कोर्स के लिए योग्यता

  • 12वीं कक्षा PCB (physics, Chemistry, Biology) स्ट्रीम से मान्यता प्राप्त होता है।
  • 12वीं कक्षा में 50% से 60% अंक लाना आने वाली होता है।
  • मेडिकल कॉलेज या यूनिवर्सिटी के द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा में मान्यता प्राप्त करनी होती है।
  • विदेशों में एमबीबीएस कोर्स करने वाले उम्मीदवार  को भी आयोजित परीक्षा (NEET, MCAT UKCAT, BMAT, GAMSAT) में मान्यता प्राप्त करनी होती है।

MBBS की पढ़ाई विदेशों के लिए आवेदन कैसे करें?

  • आवेदन करने से पहले कोर्स का चुनाव करना होता है।
  • चुनाव के के कोर्स आवेदन करना होता है।
  • आवश्यक दस्तावेज आवेदन फॉर्म के साथ देना होता है।
  • NEET, MCAT UKCAT, BMAT, GAMSAT आदि परीक्षाओं की तैयारी नहीं किया तो इन परीक्षाओं की तैयारी करके देना होता है।
  • सभी दस्तावेज का ऑनलाइन या जमा करने के बाद विजा, पासपोर्ट बनाना आता है।
  • रिस्पोंस आने में लगभग 4 से 5 सप्ताह लग सकते हैं।

एमबीबीएस कोर्स की फीस कितनी होती है? (MBBS Course Fees Kitni Hoti Hai)

MBBS कोर्स की फीस लगभग 10,000 से लेकर के लगभग 50,000 तक कि होती है, जबकि वोहीं प्राइवेट कॉलेज की बात किया जाए तो लगभग 1,00,000 से लेकर के लगभग 25,00,000 तक हो सकते है।

FAQ’S 
प्रश्न 1. एमबीबीएस कितने साल का होता है?

उत्तर– एमबीबीएस कोर्स की अवधि 5 साल 6 महीने की होती है। जिसमें की 4 साल 6 महीने एमबीबीएस का अध्ययन कराए जाते हैं तथा 1 साल इंटर्नशिप यानी की ट्रेनिंग करने होते हैं।

प्रश्न 2. MBBS कोर्स की फीस कितनी होती है?

उत्तर– एमबीबीएस कोर्स की फीस लगभग 1,00,000 से लेकर 25,00,000 प्रतिवर्ष खर्चा हो सकते हैं। सरकारी कॉलेजों में काफी कम फीस होते हैं, जबकि प्राइवेट कॉलेजों में काफी ज्यादा होते हैं। अलग-अलग कॉलेजों में फीस अलग-अलग होती है।

प्रश्न 3. एमबीबीएस कोर्स के बाद जॉब कौन कौन से हैं?

उत्तर– डॉक्टर, मेडिकल एनालिस्ट, दंत चिकित्सक, फोरेंसिक ऑफिसर, गाइनेकोलॉजिस्ट, त्वचा विशेषज्ञ, रेडियोलोकेटर, न्यूरोलॉजिस्ट, न्यूट्रिशनिस्ट इत्यादि।

एमबीबीएस कितने साल का होता है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *