टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए | Teacher Banne Ke Liye Age Limit

टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए– Teacher Banne Ke Liye Age Limit बहुत ऐसे विद्यार्थी होते हैं। जो अपने डिग्री को हासिल करने में व्यस्त रहते हैं और समय का सही उपयोग नहीं कर पाते हैं। जिसके कारण समय कब जो पार हो जाते हैं।

टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए | Teacher Banne Ke Liye Age Limit
टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए | Teacher Banne Ke Liye Age Limit

कुछ विद्यार्थियां जानना चाहते हैं कि शिक्षक बनने के लिए उम्र सीमा क्या होना चाहिए? क्योंकि उन्हें जानकारी पता नहीं होते हैं और तैयारी करना शुरू कर देते हैं इसीलिए किसी भी नौकरी की तैयारी करने से पहले उसके बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।

उसे यह भी ज्ञात होता है। कि दिन व दिन उसके उम्र बढ़ते जाता है। समय बीतता जाता है। लेकिन फिर भी वह टीचर बनकर के ज्ञान का प्रकाशित करना चाहते है।

तो आज मैं ऐसे आत्मविश्वासी विद्यार्थियों को बताना चाहूंगा कि यह आर्टिकल सिर्फ आपके लिए ही है, इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। 

टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए | Teacher Banne Ke Liye Age Limit

टीचर बनने के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 18 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 40 वर्ष की होनी चाहिए। यह उम्र सीमा निर्धारित होता है।

  • प्राथमिक स्तर (PRT) में टीचर बनने के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 18 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 35 वर्ष होना चाहिए।
  • TGT यानी कि ट्रेंड ग्रेजुएशन टीचर बनने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 और अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष होना चाहिए। 
  • PGT यानी कि पोस्ट ग्रेजुएशन टीचर के बाद अगर किया जाए तो इस की न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष और अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होनी चाहिए।
Degree Graduate Degree 
AgeFrom 18 To 35
Minimum Eligibility Must have completed graduation in the relevant subjects 
Average salary INR 40,000 – 55,000
Teachers Sector Private school,Government school 
Types of Teacher Primary Teacher, Secondary Teacher, PGT Teacher 
Course J.B.T, B.T.C, B.Ed, D.Ed, B.P.Ed, N.T.T.
Primary Teacher Class 1 To Class 5th
Secondary Teacher Class 6TH To Class 10TH 
Post Graduate Teacher Class 10TH To Class 12TH 

Note – टीचर बनने के लिए अलग-अलग कैटेगरी के लिए अलग-अलग आयु सीमा में छूट का प्रावधान होता है।

टीचर का फुल फॉर्म क्या होता है?

टीचर का फुल फॉर्म नीचे किया गया हैं:–

T – Talented (टैलेंटेड) 

E – Educated (इडुकेटेड) 

A – Adorable (एडोरेबल) 

CH – Charming Helpful (चार्जिंग हेलपफुल)

E – Encouraging (इनकोरेजिंग) 

R – Responsible (रिसपोनसिबल) 

टीचर बनने के लिए कुछ उम्र सीमा निर्धारित होता है। शिक्षक एक ऐसा समाज सुधारक है। जिनके द्वारा विद्यार्थियों के भविष्य को बनाने का ज्ञान मिलता है।

प्राचीन काल से शिक्षक को भगवान से भी ऊंचा माना गया है। और इन्हीं के माध्यम से सही और गलत का मार्क का चयन कराया जाता है। लोगों का बुराई को हटा करके एक सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति बनने का ज्ञान प्रदान करता है।

शिक्षक ने हमेशा समाज कल्याण के बारे में समाज को जागृति करने का प्रयास किया है। और इनके पास शिक्षा का भंडार होता है। जिसके कारण समाज विकसित और संपन्न मे सुधार होता है।

टीचर कितने प्रकार के होते हैं। (Types of Teacher)

टीचर तीन प्रकार के होते हैं। जो इस प्रकार से है 

1. Primary Teacher(PRT) :-

प्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं को पढ़ाने के लिए होता है। इसमें कक्षा 1 से लेकर के कक्षा 5 तक के छात्र – छात्राओं को पढ़ाया जाता है।

2. Secondary/Trained Graduate Teacher (TGT):- 

मध्य विद्यालय के विधार्थीयों को यानी कक्षा 6 से लेकर के कक्षा 10वीं तक के विधार्थीयों को Trained Graduate Teacher के द्वारा पढ़ाये जाते हैं।

3. Post Graduate Teacher (PGT):-

जब विधार्थी मध्य विद्यालय से मान्यता प्राप्त करने के बाद वह अपने एडमिशन उच्च विद्यालय में करा लेते हैं। जांहा कक्षा 10वीं से लेकर के कक्षा 12वीं Post Graduate Teacher के माध्यम से पढ़ाये जाते है। 

प्राइमरी टीचर कि उम्र कितनी होनी चाहिए? Primary Teachers Age Limit 

जैसे कि हमने ऊपर बताया कि प्राइमरी टीचर पढ़ने के लिए नींद कम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 35 वर्ष तकिया होनी चाहिए।

अलग-अलग कैटेगरी के लिए उम्र सीमा अलग-अलग होती है।  और OBC, SC, ST 5 साल की छुट होती है। तथा अलग अलग राज्य में अलग-अलग की छूट दी जाती है।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए योग्यता कितनी होनी चाहिए? Primary Teachers Qualification 

प्राइमरी शिक्षक बनने के लिए योग्यता निम्न प्रकार से है

  • 12वीं कक्षा में पास होने चाहिए
  • भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • स्नातक की डिग्री में मान्यता प्राप्त करने के लिए कम से कम 50% मार्क्स प्राप्त करना होता है।
  • बीटीसी या एनटीटी या बीएलईडी की डिग्री होनी चाहिए
  • बीटीसी (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट) होना चाहिए। जो कि 2 साल का Certificate लेवल एजुकेशन कोर्स है।

टीचर बनने के लिए कौन सी डिग्री को चुनें? Teachers Degree in hindi 

डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन (D. EL. ED), नर्सिंग शिक्षक प्रशिक्षण (NTT), Basic School Teaching Certificate (BSTC) जैसे कई कोर्स होते हैं। जिन्हें का चुन करके आप एक टीचर बन सकते हैं। 

लेकिन यह बात आप पर निर्भर करता है। कि आप किस क्राइटेरिया से और किस क्षेत्र के टीचर बनना चाहते हैं। उसी के अनुसार आपको डिग्री का चयन करना होता है। 

चयन करने के लिए आपके पास निम्नलिखित डिग्री है। जो इस प्रकार से है:–

  • Master Of Education Program (M.Ed.) (Open And Distance Education Learning System)
  • Diploma In Education (D.Ed.)
  • Master Of Education Program (M.Ed.) Bachelor Of Physical Education (B.P.Ed.) Program
  • Preschool Teacher Education Program
  • Nursery Teacher Education Program
  • Physical Education Program (C.P.Ed.)
  • Elementary Teacher Education Program
  • Master Of Education Program (M.Ed.)(Part-Time)
  • Bachelor Of Education (B.Ed) (Open And Distance Learning System)

सरकारी टीचर के लिए कौन सा कोर्स को चुनें –Teacher Banne Ke Liye Konsa Course Ko Chune 

सरकारी टीचर के लिए कोर्स का चुनाव करना विद्यार्थियों के लिए बहुत ही बड़ा कठिन होता है। उन्हें यह पता नहीं होता है। कि कौन सा कोर्स को चुन करके सरकारी टीचर बने? 

सरकारी टीचर बनने के लिए निम्नलिखित कोर्स होते हैं:–

  • J.B.T. – Junior Basic Training Course 
  • B.Ed. – Bachelor Of Education (B.Ed) (Open And Distance Learning System)
  • B.T.C. – Basic Training Certificate
  • D.Ed. –Diploma in Education
  • B.P.Ed. – Bachelor of Physical Education
  • N.T.T. – Nursery Teacher Training

टीचर की सैलरी कितनी होती है?

टीचर की सैलरी के लिए अगर बात किया जाए। तो यह आप पर निर्भर होता है। कि आप सरकारी टीचर बनना चाहते है। या प्राइवेट टीचर बनना चाहते हैं। प्राइवेट टीचर की अपेक्षा सरकारी टीचर की सैलरी अधिक होती है।

Types of Teacher Teacher ki salary 
PRT Teacher Average 40,000
TGT Teacher Average 50,000
PGT Teacher Average 55,000

ALSO READS:–

टीचर बनने के फायदें 

  • शिक्षक का वेतन अच्छा होता है। 
  • शिक्षक का स्कूल का समय निश्चित होता है। बंद करने के लिए और खोलने  के लिए। 
  • शिक्षक के हाथों में विद्यार्थियों का भविष्य होता है
  • शिक्षकों और समय के अनुसार विद्यालय के माध्यम से छुट्टी भी मिलते हैं। 
  • शिक्षक का विद्यार्थी को पढ़ाने का समय निश्चित होता है। 
  • शिक्षक के हाथों में देश का भविष्य होता है।
  • शिक्षक विद्यार्थियों को अच्छी राह और अच्छे संस्कार कि शिक्षा देते हैं। 

टीचर कैसे बनें (Teacher Kaise Bane)

टीचर बनने के लिए निम्नलिखित स्टेप को फ्लो करना होता है। जोकि इस प्रकार से

  • 12वीं कक्षा पास होनी चाहिए
  • जिस क्षेत्र में आप टीचर बनना चाहते हैं। उस क्षेत्र के हिसाब से आपकी पसंदीदा विषय का चयन करना  होता है
  • स्नातक की डिग्री में 50% अंक से मान्यता प्राप्त होनी चाहिए।
  • स्नातक के बाद आप B.Ed (Bachelor of Education) कर सकते हैं। जो कि 2 साल की होती है। इसे करने के बाद आप कंही भी कोई भी स्कूल में जॉब कर सकते हैं। 
  • B.Ed कंप्लीट करने के बाद आपको CTET या TET एग्जाम को देना होता है। एग्जाम में क्लियर होने के बाद मेरिट लिस्ट के आधार पर आपको गवर्नमेंट स्कूल मे पोस्ट मिल सकता है।

FAQ’S 

Q:- प्राइमरी टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए?

Ans:- न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष

Q:- टीचर की नौकरी कितने साल की होती है?

Ans:- टीचर की नौकरी लगभग 20 साल की होती है।

Q:- टीचर बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

Ans:- 12वीं पास करने बाद Graduate कि Degree में मान्यता प्राप्त होनी चाहिए।

टीचर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए | Teacher Banne Ke Liye Age Limit

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *